भारतीय शटलर किदाम्बी श्रीकांत ने बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम करते हुए इतिहास रच दिया। वह ऐसा करने वाले पहले पुरुष शटलर हैं।

अगर आप किदाम्बी श्रीकांत के फॅन है और किदाम्बी श्रीकांत जीवनी और नेट वोर्थ के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

हमारे ब्लॉग की लिंक आप तक जलदी पोहचणे के लिये जॉईंट करे टेलिग्राम चॅनेल, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे.

करीब आठ सालों के करियर में इन्होने कई बड़े मैच जीते हैं. विश्व भर में आयोजित होने वाली ओपन सीरिज और अन्य प्रतियोगिताओं में ये हिस्सा लेते रहे हैं.

श्रीकांत का जन्म 7 फ़रवरी 1993 में आँध्रप्रदेश के रवुलापलेम में हुआ. इनके पिता का नाम केवीएस कृष्णा है. ये एक जमींदार थे.

यदि श्रीकांत के करियर की तरफ देखा जाये तो पता लगता है कि श्रीकांत शुरू से ही बहुत अच्छा बैडमिंटन खेलते रहे हैं. यहाँ पर विभिन्न वर्षों के अनुसार इनके करियर के उतार चढाव को देखा जा रहा है.

साल 2011 में इन्होंने “कॉमनवेल्थ यूथ गेम्स” में हिस्सा लिया. इस प्रतियोगिता में इन्हें मिक्स्ड डबल में रजत पदक और डबल में कांस्य पदक हासिल हुआ. 

साल 2012 में ‘मालदीव्स इंटरनेशनल चैलेंज’ में उस समय के जूनियर वर्ल्ड चैंपियन मलेशिया के ज़ुल्फदिल ज़ुल्किफ्फी को हरा कर ये जूनियर विश्व चैंपियन बने.

साल 2013 में थाईलैंड ओपन ग्रैंड प्रिक्स गोल्ड इवेंट में विश्व के आठवे स्थान के खिलाड़ी बून्सक पोंसना को हरा कर ‘मेन्स सिंगल टाइटल’ का खिताब अपने नाम किया.

साल 2014 में इनके करियर में एक लम्बी छलांग देखने मिलती है. इस साल लखनऊ में होने वाले ‘इंडियन ओपन ग्रैंड प्रिक्स गोल्ड’ में रनर अप रहे. इसके बाद मलेशिया ओपन में क्वार्टर फाइनलिस्ट रहे.

इस साल भी किदम्बी भारत के पहले खिलाड़ी हुए जिन्होने ‘स्विस ओपेन्न ग्रैंड प्रिक्स गोल्ड’ इवेंट में स्वर्ण पदक हासिल किया. इसके फाइनल में इन्होने विक्टर अक्सेइसेन को हरा कर गोल्ड मैडल हासिल किया.

श्रीकांत किदम्बी को मिले अवार्ड – साल 2017 में इंडोनेशिया सुपर सीरीज में रू 500,000 का पुरस्कार. – साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया सुपर सीरीज जीतने पर रू 500,000 का पुरस्कार.

श्रीकांत किदम्बी को मिले अवार्ड – साल 2017 में इंडोनेशिया सुपर सीरीज में रू 500,000 का पुरस्कार. – साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया सुपर सीरीज जीतने पर रू 500,000 का पुरस्कार.