राकेश झुनझुनवाला के मुताबिक, जिंदगी में उन्हें कई लोगों का साथ मिला. लेकिन, सबसे ऊपर वह अपने पिता को मानते हैं. राकेश झुनझुनवाला ने बताया कि उनके पहले गुरु उनके पिता हैं.

अगर आप राकेश झुनझुनवाला के फैन है और राकेश झुनझुनवाला के बारे में अधिक जानकारी जानना चाहते हो तो निचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

हमारे ब्लॉग की लिंक आप तक जलदी पोहचणे के लिये जॉईंट करे टेलिग्राम चॅनेल, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे.

राकेश के मुताबिक, पिता ने ही उन्हें जीवन के मूल्यों के बारे में समझाया. राकेश ने बताया कि उनके पिता ने उन्हें बड़े फैसले लेने में मदद की.

उनका मानना था कि बड़े फैसले लेते वक्त हिचकना नहीं चाहिए. झुनझुनवाला ने कहा पिता के अलावा उनके दूसरे गुरु राधाकिशन दमानी (RadhaKrishan Damani) और रमेश दमानी (Ramesh Damani) भी रहें हैं.

राकेश झुनझुनवाला के गुरुओं की लिस्ट में एक और नाम शामिल है. ये शख्स हैं कमल काबरा. कमल भी शेयर बाजार के ही एक निवेशक हैं.

इसके अलावा राकेश झुनझुनवाला ने एक और शख्स का जिक्र किया. उन्होंने कहा मेरा एक दोस्त था, जो कम उम्र में ही दुनिया छोड़कर चला गया. उसका नाम राजीव शाह था.

झुनझुनवाला के मुताबिक, हम 5-6 लोग हमेशा सही करने की सोचते थे. हम लोग कामयाबी के पीछे पागल थे, लेकिन कभी उसे आसान नहीं समझा.

राकेश झुनझुनवाला के मुताबिक, 1988 में उनकी नेट वर्थ एक करोड़ रुपए थी, जो 1993 में बढ़कर 200 करोड़ हो गई. आज राकेश झुनझुनवाला की नेटवर्थ 18000 करोड़ रुपए से ज्यादा पहुंच गई है.