दुनिया के सबसे बड़े दुखों में से एक है कि जब आपको उससे धोखा मिले, जिसे आप दुनिया में सबसे ज्यादा प्यार करते हैं।

जब आपको कहीं से पता चलता है कि पार्टनर आपको धोखा दे रहा था, तो पहले तो इस बात पर यकीन करना मुश्किल हो जाता है।

आप चाहते हैं कि आपका पार्टनर खुद आकर बता दे कि वह आपके भरोसे पर खरा नहीं उतर पाया है और आपको धोखा दे रहा है।

यह बात सुनने या कहने में अच्छी लगती है लेकिन यह बात हकीकत से कोसों दूर होती है क्योंकि धोखा देने वाला कभी भी अपने मुंह से नहीं बताता कि वह आपको कब से धोखा दे रहा है।

आपको अपने पार्टनर की बातों को ऐसे ध्यान से सुनना है कि वह सारी बातें बताने के लिए मोटिवेट हो। यह मोटिवेशन आपके लिए सच जानने का एक तरीका है।

ऐसे में आपको यह कहना चाहिए कि आपका पार्टनर क्या वाकई महसूस करता है कि उसने गलत किया है? आपको ऐसा करने के लिए आराम से बात करनी होगी।

कठोर शब्दों का प्रयोग शुरू करते हैं, तो वे डर के मारे आगे कुछ नहीं कहेगा। इसके बजाय, उनसे बात करते समय खुले और शांत रहें। आपको सच जानने के लिए इतना तो करना ही पड़ेगा।