भारत में अगर अमीरों का नाम लिया जाता है तो सबसे पहला नाम टाटा, बिरला और अंबानी का नाम आता है. भारत में अभी सबसे बड़े और अच्छे निवेशक है राकेश झुनझुनवाला, रमेश दमानी और राधाकृष्णन दमानी.

अगर आप राधा कृष्णन दमानी के फॅन है और राधा कृष्णन दमानी जीवनी और नेट वोर्थ के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

61 साल के राधा कृष्णन दमानी डी मार्ट कंपनी के मालिक है. राकेश झुनझुनवाला ने उन्हें स्टॉक मार्केट का गुरु बोला है, क्योंकि उन्होंने बहुत कम समय में शेयर बाजार में अपनी पहचान बना ली.

उनकों लोग मिस्टर व्हाइट और व्हाइट भी बुलाते है. डी मार्ट को सुपर मार्केट रिटेल चेन एवेन्यू सुपर मार्केट ये इसका पूरा नाम है, और संक्षिप्त में इसे डी मार्ट ब्रांड के नाम से जाना जाता है.

अमीरों के नाम की सूची बनाती है, उसके अनुसार दमानी भारत में 20 वें नंबर पर अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल हो गये है. उनका कारोबार अब भारत में तीसरे स्थान पर पहूँच गया है.

दमानी दुनिया के सबसे ज्यादा अमीरों 500 तक अमीरों की फोब्र्स सूची में 98 वे नम्बर पर अपनी जगह बना चुके है. उनकी कंपनी में उनकी पत्नी और उनके भाई की हिस्सेदारी लभभग 82.2 % है

जिनकी बाजार में कीमत 33123 हजार करोड़ रूपये तक है. अचानक से उनके शेयर के दामों में आये उछल से वो अनिल अंबानी जैसे अमीर बिजनेसमैन को भी अमीरी के मामले में पीछे छोड़ दिए है.

दमानी की तीन बेटियां है. उनमें से एक का नाम मंजरी चंडक है जो कि सुपरमार्केट की निर्देशक है. उनके भाई भी है जिनका नाम गोपीकिशन दमानी है. उनकी पत्नी भी उनके व्यापार में सहायता करती है.

उनकी सूझ बुझ और मेहनत का नतीजा है. यह एवेन्यू सुपरमार्ट की ही एक दूसरी नई श्रृंखला है डी मार्ट जिसको आर के दमानी द्वारा मुम्बई में स्थापित किया गया था.

दी मार्ट की मूल कंपनी एवेन्यू सुपर मार्ट है, जिसमे उनकी हिस्सेदारी 52% है. इसके साथ ही ब्राइट स्टार इन्वेस्टमेंट कंपनी में उनका निवेश 16% का है.

दमानी ने अपनी कंपनी डी मार्ट की स्थापना 2002 में की और उन्होंने अपना पहला स्टोर नवी मुम्बई में स्थापित किया. वर्तमान में अचानक से हुए उनके मुनाफ़े में उछाल ने उन्हें चर्चित कर दिया है

अपनी शेयर मार्केट में अच्छी रणनीति के तहत दो दिनों में 6100 करोड़ कमाना ये उनकी सबसे बड़ी उपलब्धी है. वह अपने कंपनी के मुनाफे को 2.5 गुणा बढ़ा चुके है.