इस वित्त वर्ष इसके आने की उम्मीद कम है. बाजार के मौजूदा हालात और रूस-यूक्रेन युद्ध को देखते हुए सरकार इसे अगल वित्त वर्ष के अप्रैल-मई महीने में लॉन्च कर सकती है.

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

आप शेयर मार्किट New Upcoming Ipo in India | नया आगामी आईपीओ 2022 जानकारी पाने के लिंक निचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

इसे 12 मई तक लॉन्च करना होगा. अगर 12 मई तक आईपीओ नहीं लाया जाता तो सरकरा को दोबारा DRHP दाखिल करना होगा. इस बीच पॉलिसी होल्डर्स को भी राहत मिली है.

LIC IPO में पॉलिसी होल्डर्स को डिस्काउंट ऑफर किया जाएगा. अप्लाई करने के लिए भी रिजर्वेशन का इस्तेमाल होगा. ऐसे में पॉलिसी होल्डर्स के पास IPO मिलने का चांस ज्यादा है.

लेकिन, इसके लिए कुछ शर्तें भी लागू हैं. आपकी LIC पॉलिसी के साथ पैन कार्ड लिंक होना जरूरी है. LIC डेटाबेस में आपका रिकॉर्ड होना चाहिए. डीमैट खाता खुद का होना अनिवार्य है.

ये तो पॉलिसी होल्डर्स के लिए शर्तें थी. लेकिन, जिनकी पॉलिसी ही लैप्स हो गई वो क्या करें? क्या वो IPO का हिस्सा नहीं बन पाएंगे? ऐसा नहीं है.

LIC की तरफ से ऐसे पॉलिसी होल्डर्स के लिए भी विशेष छूट दी गई है. कंपनी ने 25 मार्च तक लैप्स पॉलिसी को चालू कराने के लिए निर्देश जारी कर दिए हैं.

LIC के मुताबिक, इसके लिए पॉलिसीधारक को लेट फीस में कुछ छूट दी गई है. मतलब आपकी LIC लैप्स्ड (Lapsed) बीमा पॉलिसी अब डिस्काउंट रेट पर एक्टिव कराई जा सकती है.

इसके लिए LIC ने एक स्पेशल कैंपेन चलाया है, यह कैंपेन 25 मार्च 2022 को खत्म होने जा रहा है. इस डेट तक पॉलिसीहोल्डर्स अपनी लैप्स पॉलिसी को शुरू करा सकते हैं.

पॉलिसी को रिवाइव करने के लिए पॉलिसीधारकों को प्रीमियम भुगतान के साथ लेट फीस का भी पेमेंट करना होगा. लेकिन एलआईसी भुगतान किए गए कुल प्रीमियम के आधार पर विलंब शुल्क के लिए रियायतें भी दे रहा है.

कंवेंशनल और हेल्थ पॉलिसीज के लिए, LIC ने लेट फीस में 20% की छूट की पेशकश की है, जो कुल 1 लाख रुपए तक के प्रीमियम वाली पॉलिसीज के लिए 2,000 रुपए तक है.

1 लाख से 3 लाख तक पॉलिसीज पर 25% की छूट दी गई है. 3 लाख रुपए से ज्यादा प्रीमियम राशि वाली पॉलिसी के लिए 3,000 रुपए की सीमा के साथ 30 प्रतिशत की रियायत दी जा रही है.