इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का आगाज हो चुका है. पहले मुकाबला चेन्नई और कोलकाता के दरमियान खेला गया. जिसमें कोलकाता 6 विकेट से जीत हासिल की.

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

आप शेयर मार्किट New Upcoming Ipo in India | नया आगामी आईपीओ 2022 जानकारी पाने के लिंक निचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

कोलकाता ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने के फैसला लिया. जिसके बाद बल्लेबाजी करने आई चेन्नई के बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए.

सिर्फ महेंद्र सिंह धोनी ने एक अर्धशतीक इनिंग खेली. धोनी ने नाबाद रहते हुए 38 गेंदों में 50 रन बनाए. इस इनिंग में उन्होंने 7 चौके और छक्का भी लगाया.

मैच में एक समय ऐसा लग रहा था कि चेन्नई सुपर किंग्स का स्कोर 100 के पार जाना मुश्किल है लेकिन आखिरी ओवरों में तूफानी बल्लेबाजी के लिए पहचाने जाने वाले महेंद्र सिंह धोनी

ने वही किया जिसकी उनसे फैंस को उम्मीद थी. आखिर में उन्होंने कुछ बेहतरीन शॉट लगाए, जिसकी बदौलत स्कोर में कुछ तेज़ी देखने को मिली.

हालांकि उनकी यह फिफ्टी 3 साल बाद लगी है. इससे पहले उन्होंने साल 2019 में कोई अर्धशतक लगाया था. वहीं अगर टीम के कप्तान रविंद्र जडेजा की बात करें तो वो उनके खेल में प्रेशर साफ नजर आया.

जडेजा का कप्तानी में डेब्यू बेहद खराब रहा. सबसे पहले तो यह कि वो टॉस हार गए लेकिन कहते हैं कि टॉस तो किस्मत का खेल है.

इसलिए इस बात को रहने देते हैं. दूसरी प्वाइंट पर नजर डालें तो टीम की शुरुआती बल्लेबाजी बेहद खराब रही. 13 ओवर तक चेन्नई सुपर किंग्स का स्कोर 66 पर 5 विकेट था.

इसके अलावा उनके क्रीज रहते हुए अंबाती रायुडू भी रन आउट हुए. साथ ही जिस खेल के लि उन्हें पहचाना जाता था वो भी नहीं खेल पाए. वो 28 गेदों में महज़ 26 रन ही बना सके.