निवेशकों के लिए आईपीओ में पैसे लगाने का एक और आ रहा है। कृष्णा डिफेंस आईपीओ 25 मार्च 2022 को खुल रहा है। निवेशक इस इश्यू में 29 मार्च तक सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

आप शेयर मार्किट New Upcoming Ipo in India | नया आगामी आईपीओ 2022 जानकारी पाने के लिंक निचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

आप Best Health Insurance Companies in India 2022 | भारत में सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य बीमा कंपनियां 2022 जानकारी पाने के लिंक निचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

इस पब्लिक इश्यू में कंपनी के 30,48,000 नए इक्विटी शेयर शामिल है। कृष्णा डिफेंस आईपीओ (Krishna Defence IPO) NSE SME एक्सचेंज में सूचीबद्ध होगा।

1. सब्सक्रिप्शन डेट: यह 25 मार्च 2022 को खुलेगा और 29 मार्च 2022 तक बोली लगाने के लिए खुला रहेगा। 2. अलॉटमेंट डेट: शेयर अलॉटमेंट  की घोषणा की संभावित तारीख 1 अप्रैल 2022 है।

3. प्राइस बैंड: कंपनी ने आईपीओ का प्राइस बैंड ₹37 से ₹39 प्रति इक्विटी शेयर तय किया है। 4. आईपीओ साइज: कंपनी इस इश्यू से 11.89 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है।

5. लॉट साइज: इस इश्यू के एक लॉट में 3000 शेयर शामिल हैं। एक बोलीदाता केवल एक लॉट के लिए आवेदन कर सकता है। 6. निवेश लिमिट: चूंकि एक बोलीदाता केवल एक ही लॉट के लिए आवेदन कर सकता है। 

7. आईपीओ टाइप: इस सार्वजनिक निर्गम के माध्यम से, कंपनी ₹10 अंकित मूल्य के 3,048,000 नए इक्विटी शेयर जारी करेगी। इश्यू पूरी तरह से बुक बिल्ड टाइप का होगा।

8. आईपीओ लिस्टिंग: कृष्णा डिफेंस के शेयर एनएसई एसएमई एक्सचेंज में लिस्ट होंगे और लिस्टिंग की संभावित तारीख 6 अप्रैल 2022 है।

9. प्रमोटर्स होल्डिंग्स: वर्तमान में एसएमई के प्रमोटरों की कंपनी में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी है जो कृष्णा डिफेंस के शेयरों की सफल लिस्टिंग के बाद घटकर 73.38 प्रतिशत हो जाएगी।

10. आधिकारिक रजिस्ट्रार: एसएमई आईपीओ का आधिकारिक रजिस्ट्रार बिगशेयर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड है। कृष्णा डिफेंस एंड एलाइड इंडस्ट्रीज लिमिटेड (KDAIL) रक्षा अनुप्रयोग प्रोडक्ट्स

यरी इक्विपमेंट प्रोडक्ट्स और किचन इक्विपमेंट के निर्माण जैसे विभिन्न व्यवसाय में लगी हुई है। कंपनी ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ("डीआरडीओ") के साथ विभिन्न लाइसेंसिंग समझौते किए हैं

जो कंपनी को भारतीय सशस्त्र बलों के लिए विशेष रक्षा अनुप्रयोग उत्पाद बनाने और आपूर्ति करने में सक्षम बनाने के लिए जानकारी और अधिकार प्राप्त करने के लिए हैं।