जूते बनाने वाली कंपनी कैंपस एक्टिववियर आईपीओ (Campus Activewear) के लिए बोली लगाने की डेडलाइन 28 अप्रैल 2022 को समाप्त हो चुकी है। इस इश्यू को शानदार रिस्पॉन्स मिला है।

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे. 

कैंपस एक्टिववियर आईपीओ सब्सक्रिप्शन स्टेटस के अनुसार, ₹1400 करोड़ के इस इश्यू को 3 दिनों की बोली में 51.75 गुना सब्सक्राइब किया गया है, जबकि इसके रिटेल हिस्से को 7.68 गुना सब्सक्राइब किया गया है।

कैंपस एक्टिववियर आईपीओ जीएमपी में इतनी बड़ी उछाल निवेशकों द्वारा मिले शानदार रिस्पॉन्स के चलते है। इस पब्लिक इश्यू के पक्ष में बोली लगाने वालों ने जोरदार प्रतिक्रिया दी है।

इसलिए, ग्रे मार्केट में तेजी है। यह तेजी आगे भी बरकार रहेगी और यह आईपीओ हाई प्रीमियम पर लिस्ट हो सकते हैं। हालांकि, बहुत कुछ बाजार की धारणा पर भी निर्भर करेगा।

मार्केट प्रीमियम का मतलब इश्यू प्राइस के मुकाबले शेयरों की लिस्टिंग काफी ऊपर हो सकती है। जैसा कि कैंपस एक्टिववियर आईपीओ जीएमपी आज 100 रुपये प्रीमियम पर है।

इसका मतलब है कि ग्रे मार्केट कैंपस एक्टिववियर आईपीओ को ₹397 (₹292 + ₹105) के आसपास लिस्ट होने की उम्मीद कर रहा है। बता दें कि कैंपस एक्टिववियर के IPO  का प्राइस बैंड 278-292 रुपये था।

शेयर बाजार के विशेषज्ञों का कहना है कि जीएमपी अनऑफिशियल डेटा है और इसका कंपनी के फाइनेंशियल्स से कोई लेना-देना नहीं है। इस पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं किया जा सकता है।