इन गलतियों की उन्हें भारी कीमत चुकानी पड़ती है. ऐसी आम गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे निवेशकों को अभी बचना चाहिए.

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

विशेष कीमत के चक्कर में फंसना

हालांकि, गिरते हुए बाजार में खास प्राइस का मोह भारी पड़ सकता है. इस वजह से निवेशक उससे अधिक समय तक शेयर को होल्ड करते हैं, जितने समय तक उन्हें करना चाहिए था. 

औसत कीमत घटाने के लिए और शेयर खरीदना

अगर आपने कोई शेयर खरीदा है और उसकी कीमत कम हो जाती है तो एवरेज बाइंग प्राइस कम करने के लिए और शेयर मत खरीदिए.

अपनी सोच की सही साबित करने की कोशिश

जब शेयर प्राइस में गिरावट आती है तो लोग इनवेस्टमेंट और रिसर्च रिपोर्ट्स खंगालने लगते हैं. वे इनमें ऐसे संकेत ढूंढते हैं, जिनसे उनकी सोच सही साबित हो.

cryptocurrency के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, cryptocurrency मे इन्व्हेस्ट करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

52 हफ्ते के लो पर स्टॉक खरीदना

52 हफ्ते का लो किसी स्टॉक को रिसर्च करने की वजह हो सकता है, लेकिन सिर्फ कीमत देखकर ऐसे शेयर में निवेश करना अच्छा नहीं होता."

लीवरेज पर दांव लगाना

आपका निवेश उधार ली गई रकम पर दिए जा रहे ब्याज से अधिक रिटर्न दे, जो गिरावट के बाजार में काफी मुश्किल है. इसके साथ ही आपको निवेश की समयावधि पर भी ध्यान देना होगा.

अपने वित्तीय प्लान में बदलाव

ऐसे समय में निवेशक धैर्य गंवा देते हैं और फिर पैसा गंवाने लगते हैं. बेहतर होगा कि अपने लॉन्ग टर्म फाइनेंशियल गोल्स पर ध्यान दिया जाए."

एसआईपी बंद करना

एसआईपी को करेक्शन होने पर अगर आप रोकते हैं तो इससे इसका मकसद ही पूरा नहीं होता. एसआईपी में लंबे समय तक बाजार में बने रहना जरूरी है.

पोर्टफोलियो में विविधता

पोर्टफोलियो में विविधता अच्छी बात है, मगर इसमें समझदारी दिखाने की जरूरत है. एक साथ कई नावों की सवारी आपको डूबो भी सकती है.