दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बन चुकी बिटकॉइन ने अब तक कई लोगों को करोड़पति बना दिया है। ये वे लोग थे जिन्होंने शुरुआती समय में डिजिटल करेंसी पर अपना भरोसा जताया था।

एरिक फिनमैन ने पहली बार 11 साल की उम्र में बिटकॉइन में निवेश किया था। ये साल था 2011 और उस समय एक बिटकॉइन की कीमत 12 डॉलर थी।

एरिक ने अपनी दादी से 1000 डॉलर उधार लिए थे और अपने भाई की मदद से उन्होंने बिटकॉइन में निवेश किया। एरिक ने 100 बिटकॉइन खरीदे और उसे होल्ड कर लिया।

2013 में दो साल बाद बिटकॉइन की कीमत 1200 डॉलर पर पहुंच गई थी। एरिक ने दो साल में ही बिटकॉइन के जरिए बंपर मुनाफा कमाया था।

एरिक फिनमैन 18 साल की उम्र में बिटकॉइन के जरिए करोड़पति बन चुके थे। आज 10 साल बाद बिटकॉइन 50 लाख रुपये पर पहुंचने के साथ एरिक की इस होल्डिंग की कीमत 50 करोड़ रुपये पहुंच गई है।

एरिक के करोपड़पति बनने की कहानी भी काफी दिलचस्प है। साल 2015 में एरिक फिनमैन ने बाटंगल नाम से अपनी एजूकेशन स्टार्टअप कंपनी खोली। तीन साल बाद जब फिनमैन ने बेचने की योजना बनाई तो उसके पास दो ऑफर थे।

पहला 1 लाख डॉलर और दूसरा 300 बिटकॉइन देने का प्रस्ताव मिला। बाटंगल को बेचने के साथ ही फिनमैन 18 साल की उम्र में करोड़पति बन गए।

वह दुनिया के अनुभव से सीखकर बहुत खुश हैं। फिलहाल एरिक फिनमैन कई सारे प्रोजेक्ट में व्यस्त हैं। निवेश के साथ ही वह नासा के साथ भी एक प्रोजेक्ट में काम कर रहे हैं।

इसी साल एरिक अपना स्मार्टफोन लेकर बाजार में आए हैं। इस फोन का नाम फ्रीडम फोन है। इसके नाम से कन्फ्यूज मत होइएगा।

यह भारत में कभी चर्चा में रहा फ्रीडम फोन नहीं है बल्कि यह पूरी तरह से नया है। इस फोन को सेंसर फ्री होने का दावा किया गया है और यह पूरी तरह से आपकी प्राइवेसी को सुरक्षित रखने का दावा करता है।