Adani Power vs Tata Power Stock: पावर स्टॉक में निवेश के लिए टाटा पावर और अडानी पावर के शेयरों को हमेशा से ही बेहतर माना जाता रहा है।

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

Loan  के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Loan लेने के लिए अधिक जानकारी चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

अगर आप पावर स्टॉक में निवेश (Power stock) करने की सोच रहे हैं लेकिन टाटा पावर के शेयर और अडानी पावर के शेयर में कंफ्यूज्ड हैं तो आपके लिए यह खबर काम की हो सकती है।

इस आधुनिक दुनिया में अर्थव्यवस्था के विकास के लिए बिजली बहुत महत्वपूर्ण है। चूंकि बिजली किसी देश के बुनियादी ढांचे का सबसे महत्वपूर्ण घटक है, इसलिए यह एक देश की जिम्मेदारी है

कि वह सभी को सस्ती और निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करे। फिर भी, देश अभी भी बिजली की कमी का सामना कर रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप अन्य देशों की तुलना में प्रति व्यक्ति खपत कम है।

उदाहरण के लिए, भारत तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता और बिजली का उत्पादक है। हालांकि, प्रति व्यक्ति खपत वैश्विक औसत के एक तिहाई से भी कम है।

भारत थर्मल, हाइड्रो, सौर, पवन और परमाणु जैसे बिजली के विविध स्रोतों का घर है, फिर भी यह थर्मल स्रोतों से अपनी अधिकांश बिजली आवश्यकताओं को पूरा करता है।

अडानी पावर, अडानी ग्रुप (Adani group) का हिस्सा है, जो भारत की सबसे बड़ी प्राइवेट थर्मल पावर कंपनी है। भारत में यह कोयला आधारित सुपरक्रिटिकल थर्मल पावर प्लांट स्थापित करने में अग्रणी है।

कंपनी के पास बिजली बेचने के लिए कई अल्पकालिक और दीर्घकालिक बिजली खरीद समझौते (पीपीए) हैं। यह भारत में बिजली उत्पादन की कुल क्षमता का 6% है।

यह रिनेबल एनर्जी सेक्टर में भी है और गुजरात में इसका एक सोलर प्लांट भी है। अब आते हैं टाटा पावर पर, टाटा पावर प्रतिष्ठित टाटा समूह (Tata group) का हिस्सा है और यह विविध विद्युत कंपनी है।

कंपनी सोलर रूफटॉप्स, पंप्स, माइक्रोग्रिड्स और इलेक्ट्रिक व्हीकल (ईवी) चार्जिंग स्टेशनों जैसे कंज्यूमर-सेंट्रिक व्यवसायों में भी मौजूद है।

जहां एक तरफ अडानी पावर पूरी तरह से थर्मल पावर जेनरेट करने में लगी है। वहीं, दूसरी तरफ टाटा पावर बिजली क्षेत्र की वैल्यू चेन में मौजूद है, उसके पास काफी नवीकरणीय ऊर्जा पोर्टफोलियो है।