दो साल तक चले लंबे ट्रायल के बाद आखिरकार देश में 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी हो गई है। देश की तीन कंपनियों ने सबसे ज्यादा स्पेक्ट्रम खरीदे हैं।

5जी के लिए कुल 1,50,173 करोड़ रुपये के स्पेक्ट्रम की नालामी हुई है जिसमें रिलायंस जियो ने अकेले 88,078 करोड़ का स्पेक्ट्रम खरीदा है

रिलायंस ने कुल 24,740Mhz स्पेक्ट्रम की खरीदारी की है। रिलायंस ने इस बात की ओर भी इशारा किया है कि 15 अगस्त के मौके पर जियो की 5जी सर्विस लॉन्च हो सकती है।

इन सबके बीच एक बड़ा सवाल सामने आ रहा है कि क्या 5जी की लॉन्चिंग के बाद 4जी फोन बेकार हो जाएंगे। इस मसले पर अमर उजाला ने टेक्नोलॉजी क्षेत्र के तीन दिग्गज एक्सपर्ट से बात की है।

भारतीय बाजार में पिछले दो साल से 5जी फोन लॉन्च हो रहे हैं। 5जी नेटवर्क के इंतजार में कई स्मार्टफोन की लाइफ भी खत्म हो गई, हालांकि अब 5जी लॉन्चिंग को तैयार है।

आप में से कई लोगों के पास 5जी फोन भी होंगे, लेकिन जरूरी नहीं कि आपके फोन में बेस्ट 5जी एक्सपेरियंस मिले।

'5जी आने के बाद आपका 4जी फोन बेकार नहीं होगा। 5जी का आना कम्युनिकेशन नेटवर्क का सिर्फ एक अपग्रेडेशन है।

शुरुआत में तो यह 4जी नेटवर्क पर ही निर्भर रहेगा। ऐसे में आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आपका 4जी फोन बेकार नहीं होगा,

लेकिन सच यह भी है कि आप 4जी फोन पर 5जी नेटवर्क की स्पीड का आनंद नहीं ले पाएंगे। यह बदलाव 3जी से 4जी के मुकाबले बहुत अलग है।

'यह बदलाव देश में 5जी के भविष्य को लेकर है और यह बदलाव निश्चित तौर पर 5जी सपोर्ट वाले फोन की जिंदगी बदलेगा।

Loan, Credit card, Personal Loan, App loan, Home Loan, Education Loan  के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे