बीते कुछ सालों से ग्लोबल एनकैप (Global NCAP) द्वारा चलाया जा रहा सेफर कार्स फॉर इंडिया (Safer Cars For India) प्रोग्राम भारतीय ग्राहकों के लिए काफी फायदेमंद साबित होने लगा है.

देशी और विदेशी कार कंपनियों का फोकस अब कारों की सेफ्टी पर आ चुका है, इसके साथ ही ग्राहक भी अब सुरक्षा को लेकर जागरुक हो गए हैं और ये सुरक्षित कारें खरीदना पसंद करने लगे हैं.

कारों की सेफ्टी को लेकर दो भारतीय वाहन निर्माता टाटा और महिंद्रा बेहतरीन काम कर रही हैं और अपनी कारों के लिए ग्लोबल एनकैप से तगड़ी सुरक्षा रेटिंग पाई है

टाटा मोटर्स ने पंच को लेकर कहा था कि सुरक्षा इस कार की प्राथमिकता होगी और कंपनी ने अपना वादा निभाया भी है.

टाटा पंच

महिंद्रा की ये सब-4 मीटर SUV एडल्ट सेफ्टी के लिए 5-स्टार सेफ्टी रेटिंग के साथ आती है. इसे कुल 16.42 पॉइंट मिले हैं जो पंच के मुकाबले मामूली रूप से कम हैं.

महिंद्रा XUV300

अल्ट्रोज फिलहाल भारत में बिक रही सबसे सुरक्षित मेड-इन-इंडिया हैचबैक है और ये कंपनी की दूसरी 5-स्टार रेटेड कार है जिसे एडल्ट सेफ्टी के लिए 17 में से 16.13 अंक मिले हैं.

टाटा अल्ट्रोज

टाटा नैक्सॉन भारत की पहली 5-स्टार सेफ्टी रेटिंग वाली कार है जिसे ग्लोबल एनकैप से सुरक्षा के लिए पूरे 5 सितारे दिए हैं.

टाटा नैक्सॉन

बल्कि सेफ्टी में भी ये SUV जोरदार है. XUV700 तीन कतार वाली SUV है जिसे ग्लोबल एनकैप ने सुरक्षा के लिए पूरे 5-स्टार दिए हैं, इसे एडल्ट सेफ्टी के लिए 16.03 अंक मिले हैं.

महिंद्रा XUV700