रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) देश की सबसे मूल्यवान कंपनी है। इस कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) भारत और एशिया के दूसरे सबसे बड़े रईस हैं।

Share market के बारे मे अधिक जाणकारी चाहते हो, Share market investment करणा चाहते है, तो नीचे दी हुई लिंक पर क्लिक करे

रिलायंस का बिजनस कई क्षेत्रों में फैला है। इनमें पेट्रोलियम, टेलिकॉम और रिटेल प्रमुख हैं। लेकिन कम ही लोगों को पता होगा कि रिलायंस दुनिया में आम की सबसे बड़ी एक्सपोर्टरकंपनियों में से एक है।

गुजरात के जामनगर में कंपनी का आमों का बगीचा (Reliance Mango Farm) है जो 600 एकड़ में फैला हुआ है। इसमें आम के डेढ़ लाख से अधिक पेड़ हैं।

गुजरात के जामनगर में कंपनी का आमों का बगीचा (Reliance Mango Farm) है जो 600 एकड़ में फैला हुआ है। इसमें आम के डेढ़ लाख से अधिक पेड़ हैं।

रिलायंस अपनी खुशी से आम के बिजनस में नहीं उतरी बल्कि उसे मजबूरी में ऐसा करना पड़ा था। गुजरात के जामनगर में रिलायंस की रिफाइनरी है।

यह दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरीज में से एक है। इससे होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए रिलायंस ने आम का बगीचा लगाया।

दरअसल प्रदूषण रोकने के लिए कंपनी को पल्यूशन कंट्रोल बोर्ड्स की तरफ से एक के बाद एक कई नोटिस मिले। यह बात 1997 की है।

कंपनी ने रिफाइनरी के करीब आम का बागान लगाने का फैसला किया। कंपनी ने जामनगर रिफाइनरी के करीब बंजर जमीन पर आम के पेड़ लगाने का सिलसिला 1998 में शुरू हुआ।

शुरुआत में इस प्रोजेक्ट की सफलता को लेकर कई तरह की शंकाएं थी। वहां बहुत तेज हवा चलती थी। साथ ही पानी भी खारा थी।

जमीन भी आम की खेती के लिए उपयुक्त नहीं था। लेकिन कंपनी ने टेक्नोलॉजी का सहारा लेकर इस प्रोजेक्ट को सफल बना दिया।

इस बाग का नाम कंपनी के फाउंडर धीरूभाई अंबानी के नाम पर धीरूभाई अंबानी लखीबाग आमराई (Dhirubhai Ambani Lakhibag Amrayee) रखा गया।